Tags

, ,

एक काँच की हाँ गुडिया थी
पत्थर क दिल से प्यार था
टूटी वो इस तरह से के
हाथों में ना इख्तयार था

ek kaanch ki haan guria Thi

Advertisements