Tags

,

हर बार कसूर मुक्कादर
का नहीं होता
कभी कभी हम उन को
मांग लेते हैं जो किसी और
के होते है …

har baar qasor muqaddar ka nah hota

Advertisements