Tags

हर रोज मिलने में
तकल्लुफ कैसा है….!
चाँद सो बार भी निकले तो,
नया लगता है….!

har roz

Advertisements