Tags

,

No title(26)मेरी तम्मना तो ना थी
तेरे बगैर रेहने कि
मगर मजबूर को
मजबूर करती गयी उसकी मजबूरियां …

Advertisements